मंगलवार, 14 नवंबर 2017

20 भजन मंडलियों ने रसिकों को किया भावविभोर








- तीन मंडलियों को मिले प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार

भोपाल। सेवा भारती शंकराचार्य मंडल के तत्ववाधान में मंगलवार को 20 भजन मंडलियों की प्रतियोगिता में भक्ति संगीत की गंगा बहाई जिसमें हजारों रसिकों को भावविभोर कर दिया। समारोह के अंत में तीन भजन मंडलियों को प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
प्रतियोगिता का शुभारंभ मुख्य अतिथि भाजपा प्रदेश महामंत्री विष्णु दत्त शर्मा व शंकराचार्य मंडल अध्यक्ष जगदीश बसंतानी ने दीप प्रज्जवलित कर किया। तत्पश्चात भजन मंडलियों ने हरे रामा.. हरेकृष्णा, प्रेम रतन धन पायो, रामनाम सबसे प्यारा, पार्वती नंदन... आदि भजनों से सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

इन मंडलियों ने लिया भाग
भजन मंडलियों में 46 बस्तियों में करारिया, द्वारका नगर, चांदबड़, शंकराचार्य नगर, नवजीवन, छोला शिवनगर, भानपुर, सबरी नगर, सुंदर नगर, गरीब नगर, उडिय़ा बस्ती, शिव शक्ति नगर, कमल नगर, हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, विकास नगर, एकता नगर, राधाकिशन कॉलोनी, रतन कॉलोनी, जैन कॉलोनी आदि शामिल थीं।

इनको मिला पुरस्कार
मुख्यअतिथि श्री शर्मा व बसंतानी ने विजय नगर बस्ती को प्रथम, शिव नगर बस्ती को द्वितीय व छोला बस्ती की भजन मंडली को तृतीय पुरस्कार से सम्मानित किया। महिला मंडल भजन मंडली आयाम श्रीमती शशि कुशवाह, श्रीमती गायत्री राजपूत, श्रीमती बसुंधरा राठौर को सांत्वना पुरस्कार दिए।

ये थे उपस्थित
भजन मंडली प्रतियोगिता में सेवा भारती महानगर भोपाल की कुसुम सिंह निर्णायक रूप में उपस्थित थीं। साथ ही सेवाभारती शंकराचार्य मंडल के अजीत माधवानी, मनोज सोनी, शोभाराम पवार, अशोक गगवानी, राजकुमार जौहरी, राजेश मैथिल, तिजेंद्र राठौर, दिनेश पवार, प्रथम मिश्रा विशेष रूप से उपस्थित थे।




गुरुवार, 26 अक्तूबर 2017

केबल ऑपरेटरों का कारोबार चौपट होने की कगार पर : अरविंद प्रभु


- केबल ऑपरेटरों का महा सम्मेलन दिसंबर में दिल्ली में होगा
- देशभर से राजधानी में जुटे केबल ऑपरेटर संचालक
- डीटीएच व सरकार द्वारा नए कानून थोपने से संकट
- ट्राई ने नहीं सुनीं आपरेटरों की समस्याएं

भोपाल।  केंद्र सरकार द्वारा नए कानून थोपे जाने व डीटीएच कनेक्शनों की बढ़ती मांग से केबल ऑपरेटरों का कारोबार पूरी तरह चौपट हो गया है। इन समस्याओं से केंद्र सरकार को अवगत कराने के लिए 15 से 20 दिसंबर के मध्य दिल्ली में महासम्मेलन आयोजित किया जाएगा। यह बात मुनमुन शादी हॉल करोंद भोपाल में आयोजित ऑल इंडिया एलसीओ समिट में अध्यक्ष अरविंद प्रभु (मुंबई) ने कही। समिट में देशभर से केबल ऑपरेटर संचालकों ने भाग लिया।

श्री प्रभु ने कहा कि देश में 900 एमएसओ और 60,000 केबल ऑपरेटर हैं।  केबल नेटवर्क से जुड़े उपभोक्ताओं को पसंद के चैनलों की जगह मास्टर सिस्टम ऑपरेटर (एमएसओ) द्वारा पैकेज के चैनल दिखाए जाने और बढ़ते शुल्क से केबल ऑपरेटर परेशान हैं। 

नए टैक्स ने बिगाड़ा खेल
भोपाल केबल ऑपरेटर एसोसिएशन के  अंसार अहमद ने कहा कि केबल व्यवसायियों को साल दर साल टैक्स बढ़ोत्तरी का सामना करना पड़ रहा है। यह राशि उपभोक्ता से वसूली जाती है। दूसरी ओर डीटीएच कंपनियों द्वारा सस्ती दरों पर पैकेज उपलब्ध कराने से हालत खराब हो गए।

महासम्मेलन में तैयार करेंगे एजेंडा
दिल्ली से पधारे सुधीर कुमार ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा नए कर थोपने, ट्राई द्वारा समस्याओं का समाधान नहीं करने और विदेशी कंपनियों के सस्ते पैकेज से केबल ऑपरेटरों का धंधा बुरी चरह चौपट हो गया। इसका एजेंडा   15 से 20 दिसंबर को होने वाले सम्मेलन में रखा जाएगा।

ये थे उपस्थित
समिट में कपिल दइया, दुष्यंत कन्नौजिया, अंसार अहमद, युसुफ भाई, मनीष भाई, जबहलपुर से पप्पू नंद, इंदौर से बालकृष्ण तिवारी, मुरादाबाद से योगेश कुमार त्रिहा सहित चैन्नई, दिल्ली, मप्र, महाराष्ट्र, उप्र, गुजरात के केबल ऑपरेटर संचालक उपस्थित हुए।

मंगलवार, 24 अक्तूबर 2017

Samman - 2017












मप्र युवा स्वर्णकार समाज भोपाल के प्रदेश अध्यक्ष श्री जितेंद्र सोनी पत्रकार राजकुमार सोनी का सम्मान करते हुए।

नवीन कार्यकारिणी गठित


 भोपाल। ट्रैफिक  एंड रोड सेफ्टी फाउंडेशन की नई कार्यकारिणी का गठन किया गया जिसमें अशोक मांजी-राष्ट्रीय अध्यक्ष, डॉ. मोहनलाल शर्मा-राष्ट्रीय संयोजक, कल्पेश पटेल-मैनेजिंग डायरेक्टर, रेखा पटेल-राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, संजीव शर्मा- जनरल सेक्टरी व अवनीश श्रीवास्तव सेक्टरी एवं 11 कार्यकारिणी सदस्य चुने गए।

photo khabar lok




रविवार, 22 अक्तूबर 2017

देवस्थानों पर पशुधन की पूजा



भोपाल। दीपावली महापर्व का तीसरा दिन यानि गोवर्धन पूजा का दिन। इस दिन भगवान कृष्ण द्वारा गोवर्धन पर्वत को उठाकर ब्रजवासियों  की रक्षा करने का विशेष महत्व है। ग्रामीण अंचल में आज भी इस परंपरा को निभाया जा रहा है। परंपरा के अनुसार लक्ष्मी पूजा के दूसरे दिन ग्रामीण अपने पशुधन को लेकर स्थानीय देवस्थान जाते हैं, जहां देवताओं के समक्ष गौपूजा होती है। राजधानी के समीपस्थ ग्राम कुठार में शुक्रवार को सैकड़ों पशुओं को गांव के बाहर भीलट देव बाबा के मंदिर ले जाया गया,जहां पंडा बाबा(नंदकिशोर मीना) के सिर में आए देवनारायण स्वामी ने गौमाता की पूजा की। दीवाली के उत्साह सहित विशेष रंगों से पशुओं को सजाया गया तथा देवस्थान पर लाकर देवपूजा कराई गई। लगभग चार घंटे चले इस महोत्सव में ग्रामीणों ने पूरी श्रद्धा और भक्ति का प्रदर्शन करते हुए त्यौहारी पुण्य का लाभ लिया।

मंगलवार, 17 अक्तूबर 2017

जिला आयुर्वेद चिकित्सालय का होगा विस्तार : उमाशंकर


नि:शुल्क आयुर्वेद चिकित्सा शिविर में 850 रोगियों का किया इलाज




भोपाल। राजस्व, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री उमाशंकर गुप्ता ने कहा है कि जिला आयुर्वेद चिकित्सालय का विस्तार किया जाएगा। राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस एवं धनवतंरी जयंती पर मंगलवार को शासकीय जिला आयुर्वेद चिकित्सालय, शिवाजीनगर भोपाल में नि:शुल्क आयुर्वेद चिकित्सा शिविर में उन्होंने अधिकारियों को विस्तार का प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिये। श्री गुप्ता ने चिकित्सालय में शल्य कक्ष, पुरुष पंच कर्म केन्द्र और पुरूष वार्ड का लोकार्पण भी किया। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि सांसद आलोक संजर थे, जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रमुख सचिव आयुष श्रीमती शिखा दुबे ने की। कार्यक्रम का संचालन डॉ. प्रदीप दुबे ने किया।

आयुर्वेद पर लोगों का विश्वास बढ़ा
राजस्व मंत्री ने कहा कि आयुर्वेद पर लोगों का विश्वास बढ़ रहा है। इस विश्वास को पूरी तरह से स्थापित करने की जिम्मेदारी चिकित्सकों की है। उन्होंने कहा कि शिविर में लोगों को बेहतर इलाज के माध्यम से आने के लिये प्रेरित करें।

आयुष पैथी पसंद आ रही : शिखा दुबे
प्रमुख सचिव आयुष श्रीमती शिखा दुबे ने कहा कि देश में सबसे अधिक आयुर्वेद चिकित्सालय भोपाल में हैं। उन्होंने कहा कि अब आयुष पेथी लोगों को पसंद आ रही है।

850 रोगियों का नि:शुल्क इलाज
जिला आयुर्वेद चिकित्सालय के संभागीय अधिकारी डॉ. सुनील कुलश्रेष्ठ एवं आरएमओ डॉ. सुधीर पांडेय ने बताया कि राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस एवं धनवतंरी जयंती पर दर्द (पीड़ा) शिविर में 850 मरीजों का नि:शुल्क परीक्षण और दवाइयाँ दी गयी। जिसमें 67 मरीज डायबिटीज के थे।  इस मौके पर जिला आयुष अधिकारी डॉ. अंतिम नलवाया, डॉ. प्रदीप दुबे, डॉ. अंचलेश मिश्रा सहित स्टॉफ का विशेष सहयोग रहा।